Sponsored
Breaking News

कीजिए सिर्फ 10 हजार रुपए का इन्वेस्टमेंट और बन जाइए टाटा ग्रुप के पार्टनर! होगी अच्छी-खासी कमाई

Sponsored





Sponsored

यदि आप नौकरी या कारोबार शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं तो हम आपके लिए एक बेहतर ऑफर लाए हैं। आप टाटा ग्रुप के लिए खास ऑफर लेकर आया है। टाटा ग्रुप की ऑनलाइन फार्मेसी कंपनी 1MG ने सेहत के साथ (Sehat ke Sathi) नाम से एक नया कार्यक्रम शुरू किया है।

Sponsored




Sponsored

1MG पूरे देश में अपना विस्तार शुरू कर रहा है। इसके लिए ही कंपनी ने यह कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम के तहत आप कंपनी के पार्टनर बन सकते हैं।

Sponsored




Sponsored

इसमें आपको कंपनी की फ्रेंचाइजी मिलेगी और अपने क्षेत्र में काम करना होगा। दरअसल, यह एक लीड जेनरेशन प्रोग्राम है। इसके तहत आपको एक एरिया दिया जाएगा। आपको उस एरिया में 1MG के लिए ग्राहक जोड़ने होंगे।

Sponsored




Sponsored

इन ग्राहकों से 1MG को होने वाली कमाई से आपको कमीशन दिया जाएगा। यानी आप जितने ज्यादा ग्राहक जोड़ेंगे, उतना ज्यादा ही आपको कमीशन मिलेगा।

Sponsored




Sponsored

10 हजार रुपए का करना होगा निवेश :
1MG की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए 10 हजार रुपए का निवेश करना होगा।

Sponsored




Sponsored

खास बात यह है कि इस कार्यक्रम के तहत पार्टनर बनने या फ्रेंचाइजी लेने के लिए फार्मेसी की डिग्री की आवश्यकता नहीं है। 10 हजार रुपए की राशि के बदले कंपनी आपको 1 ब्लड प्रेशर चेक करने की मशीन, 1 शुगर चेक करने की मशीन और 500 विजिटिंग कार्ड दिए जाएंगे।

Sponsored




Sponsored

कैसे बन सकते हैं पार्टनर :
यदि आप 1MG का पार्टनर बनना है तो आपको कंपनी की वेबसाइट 1mg.com/sehatkesathi पर जाना होगा। यहां पर आपको लीड जेनरेशन पार्टनर लिखा दिखाई देगी।

Sponsored




Sponsored

इसी के नीचे CLICK HERE लिखा होगा। इस पर क्लिक करने से एक नया गूगल डॉक्यूमेंट में अपनी जानकारी भरकर सबमिट करनी होगी। इसके अलावा आप team@1mg.com पर ई-मेल भी कर सकते हैं। इसके बाद कंपनी के प्रतिनिधि आपसे संपर्क करके आपकी मदद करेंगे।

Sponsored




Sponsored

2023 तक 17 हजार करोड़ रुपए का होगा ई-फार्मेसी बाजार : भविष्य में ऑनलाइन फार्मेसी एक अच्छा सेक्टर साबित हो सकता है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत का ई-फार्मेसी कारोबार तेजी से ग्रोथ कर रहा है और 2023 तक यह 2.7 अरब डॉलर करीब 17 हजार करोड़ रुपए का हो सकता है। फिलहाल देश में ई-फार्मेसी कारोबार 360 मिलियन डॉलर करीब 2500 करोड़ रुपए का है।

Sponsored




Sponsored

2015 में हुई थी 1MG की स्थापना : ऑनलाइन फार्मेसी की स्थापना 2015 में प्रशांत टंडन और गौरव अग्रवाल ने मिलकर की थी। बाद में टाटा ग्रुप ने इसमें बड़ी हिस्सेदारी खरीद ली थी। इसके बाद इसका नाम बदलकर TATA 1MG हो गया है।

Sponsored




Sponsored

अभी 1MG ऑनलाइन डॉक्टर, ऑनलाइन दवा, लैब टेस्ट, ब्लड टेस्ट जैसी सेवाएं उपलब्ध कराता है। इसके अलावा सब्सक्रिप्शन भी देता है। इसमें ग्राहकों को दवाओं और अन्य सेवाओं पर 25% तक की छूट मिलती है। साथ ही सब्सक्राइबर्स को फ्री शिपिंग और सेम-डे डिलिवरी जैसी सुविधाएं मिलती हैं।

Sponsored




Sponsored

[DISCLAIMER: यह आर्टिकल कई वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. The Digital Akhbar अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है]

Sponsored




Sponsored
Sponsored
Sponsored
Bharat News Channel

Leave a Comment

Recent Posts

Sponsored