BIHARBreaking NewsNationalSTATE

IAS Success Story: छोटी-छोटी गलतियों से Varjeet Walia यूपीएससी में कई बार हुए फेल, फिर ऐसे मिली सफलता

Success Story Of IAS Topper Varjeet Walia, IAS Success Stories,IAS Topper Stories,IAS Varjeet Walia,UPSC,UPSC CSE 2017




Sponsored

Success Story Of IAS Topper Varjeet Walia: यूपीएससी में जब कोई सफलता के बेहद करीब जाकर फेल होता है, तो मन में कई तरह के निगेटिव विचार आने लगते हैं. हालांकि इस दौरान जो लोग खुद को सकारात्मक रखकर कड़ी मेहनत करते रहते हैं उन्हें सफलता जरूर मिल जाती है. आज हम आपको बेहद उतार-चढ़ाव के बाद सफलता प्राप्त करने वाले आईएएस अफसर वर्जीत वालिया की कहानी बताएंगे. यूपीएससी की तैयारी करने वाले तमाम कैंडिडेट्स उनकी कहानी से बहुत कुछ सीख सकते हैं. चलिए वर्जीत के यूपीएससी के सफर पर एक नजर डाल लेते हैं.

Sponsored




Sponsored

ऑप्शनल बेहद समझदारी से चुनें
वर्जीत वालिया को यूपीएससी में चौथे प्रयास में सफलता मिली. कैमिकल इंजीनियरिंग करने के बाद उन्होंने यूपीएससी में सोशियोलॉजी को अपना ऑप्शनल चुना. बेहद अलग फील्ड से ऑप्शनल चुनने की वजह से उन्होंने पहले प्रयास में पूरी कोशिश की लेकिन उसके बावजूद सफलता नहीं मिली. इसके बाद उन्होंने अपनी तैयारी का पूरा एनालिसिस किया और पाया कि उन्हें ऑप्शनल सब्जेक्ट बदल लेना चाहिए. उनका मानना है कि ऑप्शनल सब्जेक्ट को चुनने से पहले आपको अपनी क्षमताओं और इंटरेस्ट को देख लेना चाहिए.

Sponsored




Sponsored

धैर्य के साथ करें तैयारी
वर्जीत ने अपना ऑप्शनल सब्जेक्ट बदल दिया उसके बावजूद उन्हें दूसरे प्रयास में सफलता नहीं मिली. ऐसे में उन्होंने अपनी रणनीति को फिर से चेक किया और धैर्य रखकर तीसरा प्रयास किया. इस बार उन्होंने परीक्षा पास कर ली लेकिन रैंक मिली 577. ऐसे में उन्होंने चौथा प्रयास किया और 21वीं रैंक हासिल कर आईएएस बनने का सफर पूरा कर लिया. उनका मानना है कि यह परीक्षा बेहद अनप्रिडिक्टेबल है, इस दौरान धैर्य आपके लिए बेहद जरूरी होता है. आप शांत होकर लगातार मेहनत करते रहें.

Sponsored




Sponsored

यहां देखें वर्जीत वालिया का दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिया गया इंटरव्यू

Sponsored





Sponsored

अन्य लोगों को वर्जीत की सलाह
वर्जीत का मानना है कि यूपीएससी की तैयारी करते वक्त जल्दबाजी बिल्कुल ना करें. सबसे पहले इस परीक्षा के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लें. उसके बाद सही ऑप्शनल चुनकर बेहतर रणनीति बनाएं और फिर अपना शेड्यूल बनाकर मेहनत में जुट जाएं. वे कहते हैं कि यहां असफलता मिलने पर आप घबराएं नहीं और दूसरे प्रयास को लेकर आशान्वित रहें. कभी भी अपने दिमाग में नकारात्मक विचार ना लाएं और पॉजिटिव रहकर कोशिश करते रहें. यही आपके लिए यूपीएससी के सफर में बेहतर होगा.

Sponsored




Sponsored
Sponsored

Comment here