Breaking NewsNational

जब अचानक फुल स्पीड में उल्टी दौड़ पड़ी जन शताब्दी एक्सप्रेस, वीडियो में देखें फिर क्या हुआ

दिल्ली से टनकपुर जा रही पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन रोलडाउन हो गई। अपने गंतव्य को जाने से बजाए ट्रेन अपनी विपरीत दिशा में दौड़ पड़ी। हड़बड़ाहट के बाद गार्ड और लोको स्टाफ ने कंट्रोल को सूचना दी। बमुश्किल ट्रेन को खटीमा के गेट संख्या 35 पर जैसे तैसे रोका जा सका। यहां यात्रियों को उतारकर सड़क मार्ग से आगे भेजा गया। पीलीभीत से इंजन लेकर एक टीम रवाना की गई। पूरे घटनाक्रम को लेकर कनिष्ठ प्रशासनिक ग्रेड की टीम को जांच के आदेश दिए गए हैं।

Sponsored

दिल्ली से पीलीभीत होकर टनकपुर जा रही पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस (05326) टनकपुर में होम सिग्नल से जैसे ही गुजर रही थी वहां एक गाय ट्रेन की चपेट में आ गई। चालक दल ने ब्रेक लगाकर ट्रेन का रोका। इसके बाद जब ट्रेन को आगे बढ़ाने के लिए वैक्यूम खींचा गया तो आश्चर्यजनक रूप से ट्रेन टनकपुर जाने के बजाए विपरीत दिशा में (रोलडाउन) चलने लगी। ट्रेन में सवार सभी 64 यात्री भी पीछे को जा रही ट्रेन को देखकर दंग रह गए। ट्रेन को बमुश्किल खटीमा में गेट संख्या 35 पर रोका जा सका। इसे कैसे रोका गया इस बारे में आधिकारिक बयान अभी नहीं आया है। पीलीभीत में जानकारी आते ही यहां वरिष्ठ अफसरों के निर्देश पर स्टेशन अधीक्षक धर्मेंद्र कुमार और उनकी टीम एक इंजन को लेकर खटीमा के लिए रवाना हो गई।

Sponsored

बड़ी दुर्घटना टली: उल्टी दौड़ी पूर्णागिरि जन शताब्दी एक्सप्रेस, खटीमा में किसी तरह रोकी जा सकी ट्रेन, सभी यात्री सड़क मार्ग से भेजे गए

Sponsored

Sponsored

जंक्शन पर अफरातफरी

Sponsored

आरपीएफ जीआरपी और सीटीआई आरपी भटट, गार्ड राजेश कुमार, एएसएम पीके चतुर्वेदी, मंटू सिंह, गोविंद, आलोक अरविंद समेत सभी को अलर्ट कर दिया गया। रेलवे डाक्टर भी अपनी टीम के साथ मौके पर आ गए। यहां खड़ा अतिरिक्त इंजन भी व्यवस्थित करते हुए टनकपुर के लिए रवाना किया गया। टनकपुर से खटीमा की तरफ रोलडाउन हुई ट्रेन की वजह से सभी रेलवे गेट आनन फानन में बंद कराए गए ताकि कहीं कोई हादसा न होने पाए। सब कुछ सलामत रहा और कोई अनहोनी नहीं हुई।

Sponsored

राजेंद्र कुमार सिंह, जनसंपर्क अधिकारी, इज्जतनगर मंडल ने बताया कि कनिष्ठ प्रशासनिक अफसरों की जांच कमेटी गठित कर दी गई है। घटना के कारणों की जांच की जा रही है। ट्रेन बनबसा और खटीमा के बीच खड़ी कर सभी 64 यात्रियों को सड़क मार्ग से टनकपुर भेज दिया गया है।

Sponsored

INPUT: HINDUSTAN

Sponsored
Sponsored

Comment here