Sponsored
Breaking News

BSEB ने मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा 2021 का जारी किया शेड्यूल, दो पालियों में होंगे Exam

Sponsored

पटना. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (Bihar School Examination Board) ने मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा (Intermediate Exam) 2021 का शेड्यूल जारी कर दिया है. इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 2 फरवरी से 13 फरवरी तक होंगी. जबकि मैट्रिक की परीक्षाएं 17 फरवरी से शुरू होकर 24 फरवरी तक खत्‍म होंगी.

Sponsored

11 दिन में खत्‍म होंगी 12वीं की परीक्षाएं
बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के शेड्यूल के मुताबिक, 2021 में इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 2 फरवरी से शुरू होकर 13 फरवरी को खत्‍म होंगी. यह परीक्षाएं दो पालियों में आयोजित होंगी. पहली पाली 9.30 से 12.45 तक और दूसरी पाली की परीक्षा 1.45 से 5 बजे तक आयोजित होगी. इस दौरान कला, वाणिज्य, विज्ञान, वोकेशनल और सैद्धान्तिक की परीक्षाएं होंगी.

Sponsored

मैट्रिक की परीक्षा का भी शेड्यूल जारी
इसके साथ बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने मैट्रिक की परीक्षा का भी शेड्यूल जारी कर दिया है. यह परीक्षाएं 17 फरवरी से 24 फरवरी तक दो पालियों में आयोजित होंगी. इसके अलावा मैट्रिक और इंटरमीडिएट की प्रायोगिक परीक्षा 20 जनवरी से 22 जनवरी तक आयोजित होंगी.

Sponsored

आपको बता दें कि इस बार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) की मैट्रिक परीक्षा 2020 में 80.59 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं. जबकि 2020 की इंटरमीडिएट की परीक्षा में इस बार तीनों संकाय मिलाकर 80.44 फीसदी बच्चे पास हुए हैं. यही नहीं, कंपार्टमेंटल परीक्षा आयोजित करने के इंतजार में बैठे बिहार बोर्ड ने फेल हुए परीक्षार्थी को पास कर दिया है. बोर्ड ने इंटरमीडिएट और मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2020 में एक या दो विषय में फेल स्टूडेंट्स को ग्रेस मार्क्स (Grace Marks) देकर बहुत बड़ी राहत दी है और परीक्षा का टेंशन दूर कर दी है. बोर्ड की मानें तो छात्र हित में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटरमीडिएट एवं मैट्रिक परीक्षा 2020 में एक या दो विषयों में फेल वैसे स्टूडेंट्स जो इंटर और मैट्रिक की कंपार्टमेंटल परीक्षा 2020 में शामिल हो सकते थे उन्हें एक बार के लिए अपवाद स्वरूप कुछ अतिरिक्त ग्रेस अंक देकर पास कर दिया गया है.

Sponsored

कुल 72,610 स्टूडेंट्स इंटर में और 1,41,677 स्टूडेंट्स मैट्रिक में ग्रेस अंक पा कर पास हुए हैं. इंटर में कुल 1,32,486 स्टूडेंट्स जो फेल थे तथा कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल हो सकते थे, उनमें से कुल 72,610 स्टूडेंट्स अतिरिक्त ग्रेस अंक पाकर सफल हुए हैं, जो कुल 54.81 प्रतिशत है वहीं मैट्रिक में कुल 2,08,147 स्टूडेंट्स जो फेल थे तथा कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल हो सकते थे, उनमें से कुल 1,41,677 स्टूडेंट्स अतिरिक्त ग्रेस अंक पाकर उत्तीर्ण हुए हैं, जो कुल 68.07 प्रतिशत है.

Sponsored

 

Input: News18

Sponsored
Sponsored
Sponsored
Bharat News Channel

Leave a Comment
Sponsored
  • Recent Posts

    Sponsored