Breaking NewsNationalSTATE

जल संसाधन मंत्री ने दिया इस्तीफा, सेक्स सीडी कांड में फंसे, नौकरी दिलाने के नाम पर महिला के साथ किया गलत काम

सेक्‍स स्‍कैंडल सीडी कांड ने कर्णाटक में बीजेपी सरकार की मुश्किलें बढ़ा दी है. सेक्स स्कैंडल की सीडी में कथित तौर पर बीजेपी सरकार के जल संसाधन मंत्री रमेश जारकीहोली के देखे जा रहे हैं. सीडी सामने आने के बाद मंत्री रमेश जारकीहोली ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. मंत्री के ऊपर एक महिला ने नौकरी दिलाने के नाम पर गंदा काम करने का आरोप लगाया है.

Sponsored

कर्णाटक में सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश कल्लाहल्ली ने सीडी जारी करते हुए आरोप लगाया कि मंत्री रमेश जारकीहोली ने महिला का नौकरी दिलाने के नाम पर यौन शोषण किया. सीडी सामने आने के बाद कर्णाटक की राजनीति में भूचाल आ गया. मंत्री के ऊपर काफी प्रेशर बनने लगा. हंगामा बढ़ते देख रमेश जारकीहोली बुधवार को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.

Sponsored

सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश कल्लाहल्ली ने जो सीडी जारी की है, उसमें कथित तौर पर बीजेपी सरकार के जल संसाधन मंत्री रमेश जारकीहोली किसी अनजान महिला के साथ देखे जा रहे हैं. दोनों के बीच जो बातचीत हो रही है, वह भी बाहर आ चुकी है. सेक्स सीडी कांड में आरोपी मंत्री रमेश जारकीहोली ने मंत्री पद से इस्तीफा देते हुए मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखा. इसमें कहा कि ”मुझ पर लगे आरोपों का सच्चाई से कोई वास्ता नहीं है. मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. मैं नैतिक आधार पर इस्तीफा दे रहा हूं.”

Sponsored

सामाजिक कार्यकर्ता और नागरिक हक्कू होरता समिति के अध्यक्ष दिनेश कल्लाहल्ली ने बताया कि महिला के परिजनों ने न्याय की मांग को लेकर उनसे संपर्क किया.महिला के परिजनों ने आरोप लगाया है कि मंत्री ने कर्नाटक पावर ट्रांसमिशन कॉरपोरेशन लिमिटेड (केपीटीसीएल) में महिला को नौकरी दिलाने के नाम पर उसका यौन उत्पीड़न किया है. मंत्री बाद में अपने वादे से मुकर गए.

Sponsored

दिनेश कल्लाहल्ली ने सीडी के मामले में पुलिस कमिश्नर कमल पंत से मंगलवार को मुलाकात की, जहां उन्हें कब्बन पार्क पुलिस के पास शिकायत दर्ज करने के लिए कहा गया है. कल्लाहल्ली ने कहा कि ”मैं इस सिलसिले में वकील से मिला. वकील ने पुलिस कमिश्नर से मिलने की सलाह दी और सीडी उन्हें सौंपने को कहा है.हम चाहते हैं कि इस मामले की सच्चाई सामने आए.”

Sponsored

इस गंभीर मामले में कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री सीएन अश्वथ नारायणने कहा कि “हमने ऐसे वीडियो के पीछे छल-कपट, प्रतिशोध, हनीट्रैप, ब्लैकमेल जैसे मामले देखे हैं. जांच के बाद सच्चाई सामने आएगी. उसके बाद कार्रवाई होगी.” वहीं दूसरी ओर गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि “कानून के अनुसार जांच की जा रही है. सच सामने आने के बाद हमारी पार्टी उनके खिलाफ कार्रवाई करने का फैसला करेगी.”

Sponsored

Input: FirstBihar

Sponsored
Sponsored

Comment here