Breaking NewsNationalSTATE

General Knowledge: DGP और DIG में कौन बड़ा होता है? जानिए वर्दी देखकर कैसे करें पहचान




Sponsored

General Knowledge: पुलिस प्रशासन से लगभग सभी परिचित होंगे. हमारे आस-पास हुए आम झगड़े से लेकर बड़ी-बड़ी घटनाओं के बारे में सबसे पहले पुलिस प्रशासन के पास ही सूचना दी जाती है. किसी भी शिकायत को लेकर हम थाने पर जाते हैं वहां पुलिस ऑफिसर रिपोर्ट दर्ज करते है और उस मामले पर एक्शन लेते है. लेकिन ऐसे बहुत कम लोग हैं जिनको पुलिस प्रशासन के बारे में सबकुछ अच्छे से पता होता है.

Sponsored




Sponsored

हमारे समाज का एक बहुत जिम्मेदार हिस्सा पुलिस प्रशासन है, लेकिन ज्यादातर लोगों को इस बात को लेकर दुविधा होती है कि पुलिस में किस पद के क्या काम होते हैं. जब हम कोई शिकायत लेकर जाते हैं तो उस पर जो ऑफिसर एक्शन लेता है उन्हें हम शॉर्ट फॉर्म से ही बुलाते हैं, जैसे- SHO, CO, SI आदि. हमें पुलिस ऑफिसर के पदों और उनके काम के बारे में अच्छे से नहीं पता होता है. यहां हम बताएंगे कि DGP और DIG के बीच क्या अंतर होता है और यह कैसे काम करते हैं.

Sponsored




Sponsored

कौन बड़ा होता है?

पुलिस प्रशासन में सबसे बड़ा पद पुलिस महानिदेशक यानी डीजीपी का होता है जो पूरे प्रदेश कि पुलिस का मुखिया होता है. वहीं पुलिस उपमहानिरीक्षक यानी डीआईजी किसी जोन की पुलिस में दूसरे नंबर का अधिकारी होता है. पुलिस विभाग में कौन सा अधिकारी किस पद पर होता है और उनकी रैंकिंग क्या होती है आप नीचे दिए लिस्ट में देख सकते हैं.

Sponsored




Sponsored

D.G.P- पुलिस महानिदेशक (राज्य पुलिस का मुखिया. कुछ स्थानों पर CP यानी कमिश्नर ऑफ पुलिस भी कहा जाता है.)
A.D.G.P- अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक
I.G- पुलिस महानिरीक्षक (जोन का मुखिया)
D.I.G- पुलिस उपमहानिरीक्षक

Sponsored




Sponsored

S.S.P- वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (जिले का मुखिया- लेकिन यह पद खासकर बड़े शहरों में होता है)
S.P- पुलिस अधीक्षक (जिले का मुखिया, ग्रामीण क्षेत्र और छोटे शहरों में यह पद होता है)
A.S.P- सहायक पुलिस अधीक्षक
D.S.P- पुलिस उपाधीक्षक

Sponsored




Sponsored

S.H.O-थाना अधिकारी (थाना इंचार्ज, खासकर शहरों में. ग्रामीण क्षेत्रों में CO यानी क्षेत्राधिकारी का भी पद होता है. जो इसके ही समकक्ष होता है. लेकिन ये 3-4 थानों को कवर करते हैं.दोनों ही अफसर की रैंकिग एक होती है. दोनों ही पुलिस इंस्पेक्टर होते हैं.)
S.I – उप निरीक्षक
ASI – सहायक उप निरीक्षक
कॉन्स्टेबल

Sponsored




Sponsored

जानिए कैसे करें पहचान?

इन ऑफिसर्स की पहचान कैसे करेंगे यह सबसे बड़ा सवाल है. सबसे पहले गाड़ियों से पहचान करने का तरीका जानेंगे. कई गाड़ियों ने नंबर प्लेट के ऊपर स्टार्स लगे होते हैं. अगर नीली प्लेट पर स्टार लगे हैं तो समझिए पुलिस की गाड़ी है. अरे गाड़ी पर तीन स्टार है तो वह डीजीपी की गाड़ी है. गाड़ी में 2 स्टार्स लगे हैं तो उस गाड़ी में आईजी रैंक का ऑफिसर बैठा होगा. वहीं अगर सिर्फ एक स्टार लगा है तो उसमें डीआईजी रैंक का अधिकारी बैठा हो सकता है.

Sponsored




Sponsored

वर्दी पर लगे स्टार से पहचानिए

डीआईजी यानी डेप्युटी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस की वर्दी पर अशोक की लाट के साथ तीन स्टार होते हैं. वही आईजी यानी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस की वर्दी पर दो तलवारों के साथ एक स्टार होता है. पुलिस विभाग की सबसे ऊंची पोस्ट पर डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस होता है उनकी वर्दी पर अशोक स्तंभ की लाट के साथ दो तलवारें होती हैं.

Sponsored




Sponsored

SOURCE: TV9

Sponsored
Sponsored

Comment here