IAS Success Story: UPSC में दो बार फेल हुए तो तैयारी छोड़ने का फैसला किया, लेकिन परिवार के सपोर्ट से राघव जैन बने आईएएस




Success Story Of IAS Topper Raghav Jain: यूपीएससी की तैयारी करते वक्त असफलता मिलने पर कभी निराश नहीं होना चाहिए. इस सफर के दौरान खुद को मोटिवेट रखना काफी जरूरी होता है. यही मोटिवेशन आपकी सफलता का कारण बनता है. आज आपको आईएएस अफसर बनने वाले राघव जैन की कहानी बताएंगे, जो कभी असफलताओं से निराश होकर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी छोड़ने का फैसला कर चुके थे. उनकी कहानी ऐसे लोगों के लिए काफी प्रेरणादायक है जो इस वक्त असफलता से जूझ रहे हैं.




सिर्फ 6 महीने कोचिंग की, फिर सेल्फ स्टडी की
राघव ने इंटरमीडिएट के बाद बीकॉम और उसके बाद एमबीए की डिग्री हासिल की. इसके बाद उन्होंने यूपीएससी की तैयारी करने का फैसला किया. इसके लिए वे दिल्ली चले गए और यहां 6 महीने कोचिंग की. इस दौरान उन्होंने परीक्षा का फॉर्मेट और तैयारी का तरीका जान लिया. इसके बाद वे वापस लुधियाना चले गए और वहीं रहकर तैयारी की. उनका मानना है कि सेल्फ स्टडी की बदौलत ही आप यूपीएससी में सफलता प्राप्त कर सकते हैं.




ऐसा रहा यूपीएससी का सफर
जब राघव ने पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी तो उन्होंने प्री-परीक्षा पास कर ली, लेकिन मेंस में अटक गए. पहले प्रयास में मेन्स तक पहुंचने से उनका कॉन्फिडेंस काफी बढ़ गया. दूसरे प्रयास में वे प्री-परीक्षा में फेल हो गए, जिससे उनका कॉन्फिडेंस काफी लो हो गया. इस दौरान उन्होंने भविष्य में परीक्षा ना देने का फैसला किया. हालांकि परिवार और दोस्तों ने उन्हें सपोर्ट किया और एक बार और प्रयास करने के लिए मनाया. तीसरे प्रयास में उनकी किस्मत ने साथ दिया और उन्होंने ऑल इंडिया रैंक 127 प्राप्त कर आईएएस अफसर बनने का सपना पूरा कर लिया.




यहां देखें राघव जैन का दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिया गया इंटरव्यू




अन्य लोगों को राघव की सलाह
राघव के मुताबिक यूपीएससी में सफलता प्राप्त करने के लिए आपको हर सब्जेक्ट को काफी गहराई से पढ़ना होगा. यहां किसी भी सब्जेक्ट को हल्के में लेना आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है. आप अपने सिलेबस के अनुसार शेड्यूल बनाएं और कड़ी मेहनत करें. पिछले साल के प्रश्न पत्रों को देखें और उनके अनुसार अपनी रणनीति बनाएं. अगर आप लगातार निराश हुए बिना तैयारी करते रहेंगे, तो आप यहां सफलता जरूर प्राप्त कर सकते हैं.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *