Breaking NewsNational

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह बोले, नोटबंदी वाले गलत फैसले के चलते देश में बढ़ी बेरोजगारी

चुनावी राज्य केरल में एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने बेरोजगारी को लेकर जमकर हमला बोला। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा नीत सरकार के नोटबंदी के गलत फैसले के चलते आज देश में बेरोजगारी चरम पर है और असंगठित क्षेत्र तबाह हो गया है।

Sponsored

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. सिंह कांग्रेस के थिंक टैंक राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज द्वारा विकास के मसले पर आयोजित सम्मेलन को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये उद्घाटन करने के बाद संबोधित कर रहे थे। उन्होंने राज्य सरकारों से लगातार संवाद नहीं करने के लिए भी केंद्र सरकार की आलोचना की।

Sponsored

उन्होंने कहा कि कर्ज की समस्या पर केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक के तात्कालिक उपायों से आने वाले ऋण संकट को लेकर हम धोखा नहीं खा सकते, जो लघु और मझोले क्षेत्र को बहुत बुरी तरह प्रभावित कर सकता है

Sponsored

मनमोहन सिंह की मौजूदगी में केरल के विकास की पेश की गई रूपरेखा

Sponsored

‘प्रतीक्षा 2030’ नामक इस कार्यक्रम में डॉ. सिंह ने कहा कि 2016 में लिए गए नोटबंदी के अविवेकी फैसले से देश में बेरोजगारी बढ़ी है और असंगठित क्षेत्र बदहाल हो गया है। केरल में विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के ‘विजन डॉक्यूमेंट’ जारी करने के लिए यह सम्मेलन आयोजित किया गया था। कांग्रेस ने इस दस्तावेज में केरल के विकास की रूपरेखा पेश की है।

Sponsored

कांग्रेस नेता ने कहा कि केरल और अन्य राज्यों में सरकारी वित्तीय व्यवस्था गड़बड़ा गई है और राज्यों को अत्यधिक उधारी लेकर काम चलाना पड़ा रहा है, जिससे भविष्य के बजटों पर बहुत अधिक बोझ पड़ेगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार में संघवाद और राज्यों के साथ नियमित परामर्श की परंपरा खत्म हो गई है, जो हमारे देश की सामाजिक और राजनीतिक विचारधारा की आत्म है और जिसे संविधान में भी अहम स्थान दिया गया है।

Sponsored

डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा कि केरल में सामाजिक स्तर तो बहुत ऊंचा है, लेकिन कई ऐसे क्षेत्र हैं जिन पर भविष्य में बहुत ज्यादा ध्यान केंद्रित किए जाने की जरूरत है। कोरोना महामारी के चलते केरल के पर्यटन उद्योग पर गहरी चोट पड़ी है। इसे पटरी पर लाना बड़ी चुनौती है।

Sponsored

Input:JNN

Sponsored
Sponsored

Comment here