दुनिया के 260 देशों के बारे में जानता है चार साल का ये बच्चा, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हुआ नाम




टैलेंट की कोई उम्र नहीं होती. देश और दुनिया में कई ऐसे बच्चे हैं जिन्होंने अपने टैलेंट से सबको हैरान कर रखा है. मुंबई के देव शाह जिन्होंने हाल ही में एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स (Asia Book of Records) में अपना नाम दर्ज करवाया है, ऐसे ही बच्चों में से एक हैं. 4 साल के देव ने अपने टैलेंट से पूरी दुनिया को चौका कर रख दिया है.




देव सभी देशों के नामों को उनके आकार के क्रम में सुनाने वाले सबसे कम उम्र के व्यक्ति हैं. वह देशों को उनके आकार से पहचान सकते हैं और भूमि के अनुसार उनके नाम आरोही क्रम (ascending order) में पढ़ सकते हैं. इतना ही नहीं देव संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता प्राप्त सभी 195 देशों के नामों का उच्चारण कर सकते हैं.




ग्लोब के साथ रोज 2 घंटे अकेले बिताता था
देव को भूगोल, इतिहास और सौरमंडल की दुनिया से प्यार है. इसकी शुरुआत भारत के राज्यों पर एक साधारण पहेली से हुई जिसने देव का ध्यान खींचा और फिर, उसने विश्व भूगोल को एक्सप्लोर करना शुरू किया. एक विस्तृत स्मरण के साथ, वह कुछ ही मिनटों में प्रमुख देशों की पहेलियों को हल कर सकता था. उसकी बढ़ती दिलचस्पी को देखते हुए, उसके माता-पिता ने उसे एक ग्लोब दिया और देव उसके साथ रोजाना कम से कम दो घंटे अकेले बिताता था.




ऐसे सीखना शुरू किया
देव ने इंटरनेट पर वीडियो देख कर 260 देशों, उनके झंडे, दुनिया के नक्शे पर उनके स्थान को पहचानना शुरू कर दिया. उसके बाद कौन से देश स्वतंत्र हैं सारी बातों को उसने याद करना शुरू कर दिया. फिर उसने उनके आकार को देखकर देशों को पहचानना शुरू कर दिया और उनके नामों को उनके आकार के क्रम में याद करना शुरू कर दिया. इतना ही नहीं देव संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस और चीन के विभिन्न राज्यों के नाम भी पढ़ सकता है. उनके माता-पिता को उनकी सीखने की कला का एहसास तब हुआ जब देव ने उन्हें ऑनलाइन कुछ क्विज़ खेलने के लिए कहा और उसने पहेली को आसानी से हल कर दिखाया.




क्या है एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स
एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, एशिया में प्रतिभाओं को पहचानने का एक प्लेटफार्म है. इसमें 40 हजार एंट्री हैं जो कल्चर, क्रिएटिव, टेक्नॉलॉजी, मेमोरियल स्किल, फिजीकल उपलब्धि, युवा आदि में विभिन्न श्रेणियों में व्यक्तियों की अनूठी प्रतिभा और जुनून को सर्च करती है.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *