जुग जुग जियह बिटिया रानी, कोचिंग पढ़े बिना पहली बार में पास कर गई UPSC परीक्षा, आज है IAS अफसर

IAS ऑफिसर बनने के लिए बिना कोचिंग के पहली कोशिश में UPSC परीक्षा पास की: आज हम जिस लड़की की बात करेंगे, वह किसी पहचान की मोहताज नहीं है। उसने पहले मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त किए, फिर यूपीएससी परीक्षा पास कर आईएएस अधिकारी बन गई। मुख्य बात यह है कि कोचिंग पढ़े बिना उसने यूपीएससी परीक्षा की पहली बार में ही जीत हासिल की और अपना सपना साकार कर लिया। वह कहती है कि मैंने निर्णय लिया है कि किसी भी परिस्थिति में IAS बनना चाहिए।

हम आईएएस चंद्रज्योति सिंह की बात कर रहे हैं, जो अपने पहले प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास कर चुके हैं। Chandrajyoi एक सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी की बेटी हैं। उनकी पढ़ाई के दौरान वे कई राज्यों में रहे हैं। चंद्रज्योति के पिता, कर्नल दलबारा सिंह, एक आर्मी रेडियोलॉजिस्ट थे, और उनकी मां, लेफ्टिनेंट कर्नल मीना सिंह, एक लेफ्टिनेंट कर्नल थीं।

उनके माता-पिता ने उन्हें जीवन भर अच्छे काम करने की प्रेरणा दी। चंद्रज्योति सिंह ने जालंधर के APJE स्कूल से 10 सीजीपीए के साथ 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा पूरी की। बाद में, वह चंडीगढ़ के भवन विद्यालय, चंडीगढ़ से 95.4% अंकों के साथ 12वीं कक्षा में उत्तीर्ण हुआ।

बाद में उन्होंने 2018 में दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से हिस्ट्री ऑनर्स में 7.75 सीजीपीए हासिल कर ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। चंद्रज्योति ने स्नातक करने के बाद एक वर्ष की छुट्टी ली।

2018 में चंद्रज्योति ने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू की और अपने पहले प्रयास में 28वीं रैंक के साथ उत्तीर्ण हुई। 22 वर्ष की उम्र में चंद्रज्योति सिंह मजह आईएएस अधिकारी बन गईं। परीक्षा में सफलता पाने के लिए चंद्रज्योति ने एक पूरी योजना बनाई और उसे सख्ती से लागू किया। सभी यूपीएससी उम्मीदवारों को उनकी कहानी प्रेरणा देती है।

[DISCLAIMER: यह आर्टिकल कई वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Bharat News Channel अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *